Ganesh Chaturthi 2017: इस गणेश चतुर्थी में गणेश जी का आशीर्वाद पाने के लिए लगाएं इन 5 तरह के मोदक का भोग

0
262

इस बार 2017 में गणेश चतुर्थी का मुहूर्त 24 अगस्त 2017 को है और गणेश विसर्जन का मुहूर्त 4 सितम्बर 2017 को है. एसा मन जाता है की गणेश चतुर्थी के दिन ही श्री गणेश जी का जन्म हुआ था. हिन्दू शास्त्रों में यह माना गया है की गणेश जी शुभता के देव हैं. सृष्टि में शुभता लाने के लिए माता पारबती ने भगवान् गणेश को जन्म दिया था. ब्रम्ह देव के सामान ज्ञान वाले श्री गणेश जी अगर किसी के ऊपर प्रसन्न हो जाएँ तो उसके जीवन में खुशियों और शुभता का अम्बार लगा दें.

lord-ganesha-pics

 

साथ ही आपको यह भी पता होना चाहिए की गणेश जी को मोदक बचपन से ही पसंद थे, जब माता पारवती मोदक बनती थी तो गणेश जी पुरे मोदक खा लिया करते थे. इसीलिए गणेश उत्सव के दौरान मोदक का भोग लगाया जाता है.

ganesha-eating-modak

अगर आप भी गणेश पूजन करने की सोच रहे हैं तो मोदक का भोग अवश्य लगाएं. वैसे तो मोदक मूल रूप से गुड और नारियल की फिलिंग करके बनाया जाता है. इसे आप आटे या मैदे में फिल करके बना सकते हैं. लेकिन बहुत से फेमस रसोयिओं ने बहुत सी मोदक रेसिपी बताई हैं, इन मोदक रेसिपी एक्सपेरिमेंट के बाद आपके मोदक बहुत ही स्वादिष्ट लगेंगे. मोदक रेसिपी देखने के लिए पूरा लेख पढ़ें.

 

स्टीम्ड मोदक: उकडीचे मोदक 

steamed-modak-ganesh-chaturthi-pooja

यह मोदक रेसिपी हेल्थी मोदक बनाने के लिए है, इसमें आयल ज़रा भी नहीं रहेगा. गेहूं के आटे या चांवल के आटे का मोदक के अक्कर का मोल्ड बना के उसमे गुड़ और नारियल की फिलिंग किया जाता है. मोदक अच्छे डिजाईन के बनाने के लिए आप मोदक मोल्ड ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं.

 

डीप फ्राइड मोदक:

deep-fried-modak-recipe

यह मोदक में तेल की मात्र ज्यादा रहेगी. इसमें भी आप गेहूं के आटे या चांवल के आटे के मोदक बना कर उसमे गुड़ और नारियल की फिलिंग करने के बाद इसे तेल में डीप फ्राई करें. यह मोदक बहार से बहुत ही क्रिस्प हो जाता है और खाने में अच्चा लगता है.

 

 चना दाल मोदक:

chana-dal-modak-recipe

इसकी बनाने की विधि भी बिलकुल बाकि मोदक के जैसी है बस फिलिंग का अंतर है. इसमें चना दाल को लम्बे समय तक भिगो कर (फुला कर) उसे पीस कर, उसको हल्का फ्राई किया जाता है. फ्राई करते समय गुड़ और नारियल मिलते हैं. आप ड्राई फ्रूट्स (काजू किशमिश बादाम) भी मिला सकते हैं. इसको तब तक फ्राई करें जब तक यह हलवा जैसा न बन जाए. इसके हलवा बनने के बाद इसे मोदक में फिल करके डीप फ्राई करें.

 

रवा मोदक:

rava-modak-recipe-in-hindi

इस मोदक की बासरी लेयर रवा (सूजी) की बने जाती है. रवा से मोदक बनाने के लिए आपको सबसे पहले सूजी को फ्राइंग पैन में भून लें, जैसे हम सूजी का हलवा बनाते समय करते हैं. सूजी जब भुन जाए तो उसे अलग रख लें. अब थोढ़ा दूध, पानी और घी एक पैन में लेले और उसे धीमी आंच में पकाएं. जब वह उबलने लगे तो उसमे भुनी हुई सूजी दाल दें और चलते रहें. इस तब तक चलाना है जब तक वह मिश्रण आटे की तरह न हो जाए. उसके बाद आप इस सूजी के मिश्रण से मोदक के आकार बना कर उसमे फिलिंग करके डीप फ्राई कर दें. फिलिंग में आप गुड़, नारियल, खसखस और ड्राई फ्रूट्स का इस्तेमाल कर सकते हैं. नारियल, ड्राई फ्रूट्स और खसखस को हल्का भून जरुर लें.

 

ड्राई फ्रूट मोदक:

dry-fruit-modak-recipe

मोदक में असली स्वाद फिलिंग से ही आता है. ड्राई फ्रूट्स मोदक में काजू, किशमिश, बादाम, खसखस, चिरौंजी, पिस्ता का उपयोग किया जा सकता है. सभी ड्राई फ्रूट्स को छोटे-छोटे पीस में काट कर घी में हल्का भून ले जिससे कुरकुरा पन आ जाए. उसके अलावा आप खोया भी मिला सकते हैं और मोदक में फिलिंग कर सकते हैं. मोदक की बाहरी सतह आटे, मैदे या सूजी के बनाई जा सकती है. और अंत में डीप फ्राई करके आपके मोदक तैयार हो जाएँगे.

 

यह रेसिपी आपको कैसी लगी आप कमेंट्स में जरुर बातें और कोई सवाल हो तो जरुर पूछें.

इस रेसिपी को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here